Friday, April 19, 2013

एबुलेंस

इलाज

अगर हस्पताल ले जानेवाली

एबुलैंस ऐसी है

तो मरीज

कहाँ तक जिन्दा पहुँच पायेगा

सरकार  को क्या बिलकुल शर्म नहीं

या सिर्फ नाम के नेता हैं

थू है ऐसे प्रबंधों पर
 

4 comments:

Vinnie Pandit said...

Ramaji you have presented a true picture of treatment in villages.
Good presentation!
Vinnie

कविता रावत said...

एक भयावह सत्य है ..शर्म उन्हें आती है जिनके पास होती हैं ..दिल में गहरी संवेदना जगाती है आपकी पोस्ट ...धन्यवाद

Ramaajay Sharma said...

आभार विनी जी

Ramaajay Sharma said...

आभार कविता जी